Quote :

The secret of your future is hidden in your daily routine-Mike Murdock

Science & Technology

सामान्य मनुष्य के दैनिक जीवन में उपयोगी- बायोइन्फॉर्मेटिक्स

Date : 24-Sep-2022

 

अक्सर माता-पिता अपने बच्चे के भविष्य के लिए चिंतित रहते हैं कि किस क्षेत्र को बच्चे के करियर के लिए चुने? किस क्षेत्र में रोजगार के अच्छे अवसर मिल सकते हैं?  साथ ही साथ हमें यह जानने की जिज्ञासा भी होती है कि विश्व के वैज्ञानिक कैसे कार्य करते हैं? कैसे नई उत्पन्न हुई बीमारियों के इलाज के लिए दवाइयों का निर्माण करते हैं? कैसे शोध कार्य किए जाते हैं?  मानव जाति की प्रकृति में ही जिज्ञासा है इसलिए हमें अनेक प्रकार की जिज्ञासा होती है तो चलिए आज जानते हैं

 

विज्ञान की एक तेजी से उभरती हुई शाखा बायोइन्फॉर्मेटिक्स के बारे में कि क्या है बायोइन्फॉर्मेटिक्स? कैसे  बायोइन्फॉर्मेटिक्स हमारे जीवन में उपयोगी है और हम कैसे इसका उपयोग करते हैं? इस क्षेत्र के बारे में अभी भी साधारण मनुष्य को पर्याप्त जानकारी नहीं है तो सबसे पहले यह जानना और समझना जरूरी है कि क्या होता है बायोइन्फॉर्मेटिक्स?  जैव सूचना विज्ञान या बायोइन्फॉर्मेटिक्स एक तीव्र गति से उभरती हुई विज्ञान की शाखा है इसमें कंप्यूटर विज्ञान और जीव विज्ञान दोनों ही महत्वपूर्ण शाखाओं का एक साथ अध्ययन किया जाता है। इस क्षेत्र में जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, सांख्यिकी और कंप्यूटर विज्ञान का उपयोग करते हैं अर्थात इन सभी विषयों के समावेश से ही बायोइन्फॉर्मेटिक्स का निर्माण हुआ है।

 

इस क्षेत्र में जैविक जानकारियों का बारीकी से अध्ययन करें उपयुक्त उपकरणों के उपयोग से अत्याधुनिक सॉफ्टवेयर का निर्माण किया जाता है। जैव सूचना विज्ञान की सहायता से मनुष्य, पेड़-पौधों और जानवरों में होने वाले रोगों को समझना एवं उनके रोकथाम के लिए दवाइयों की खोज में लगने वाले समय को कम करना और मौसम से संबंधित जानकारियों का अनुमान लगाना जैसे कार्य कर पाना संभव हो पाया है। यह साधारण आदमी के जीवन को सरल बनाने में उपयोगी है बायोइन्फॉर्मेटिक्स की मदद से साधारण इंसान और समाज से संबंधित कुछ अहम समस्याओं को हल कर पाना संभव हो पाया है। बायोइन्फॉर्मेटिक्स ने विज्ञान के क्षेत्र में रिसर्च करने के तरीकों को ही बदल दिया है। किसी भी शोध कार्य की शुरुआत प्रयोग से करने के बजाय अब कंप्यूटर में पहले से उपलब्ध डेटाबेस एवं उपयुक्त सॉफ्टवेयर की मदद से ढूंढना एवं तुलना से किया जाता है।

 

किसी वैज्ञानिक द्वारा एक जीन के अनुक्रम प्राप्त कर लेने के बाद उसकी तुलना डेटाबेस में उपलब्ध अनुक्रम से की जाती है और दोनों में समानता के आधार पर उस जीन की उत्पत्ति और कार्यशैली के बारे में पता लगाया जाता है। इसकी मदद से किसी जानलेवा बीमारी के लिए जिम्मेदार जीन समूहों का पता लगाया जा सकता है एवं उस बीमारी के इलाज के लिए औषधि निर्माण के लिए लक्ष्य निर्धारित कर उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उपयुक्त अणु को डिजाइन किया जाता है। बायोइन्फॉर्मेटिक्स मेडिसिन और हेल्थकेयर इंडस्ट्री में असरदार प्रोडक्ट बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देता है। किसी पौधे या जंतु के जीवन में परिवर्तन कर बेहतर उपज वाले बीजों का एवं बेहतर नस्ल वाले जंतुओं का निर्माण किया जाना संभव है जिसके परिणाम स्वरूप मानव जाति का फायदा होता है।

 

इसके प्रयोग से कैंसर के इलाज में प्रयुक्त जीन थैरेपी की सटीक जानकारी प्राप्त की जा सकती है और साथ ही मनुष्य, पेड़-पौधों और जानवरों के विकास एवं वितरण संबंधित अध्ययन में उपयोग में लाया जा सकता है। इसकी मदद से जीन मैपिंग के माध्यम से अनुवांशिकी संबंधित जानकारी को संरक्षित एवं पुनः प्राप्त करने में आसानी होती है। आज के दौर में लगभग हर काम डिजिटल हो रहा है। आजकल हमारी डेली लाइफ के तकरीबन सभी क्षेत्र में विज्ञान का असर दिखाई देता है। पूरी दुनिया इन दिनों विज्ञान और टेक्नोलॉजी के विकास पर पूरा फोकस कर रही है। बायोइन्फॉर्मेटिक्स में करियर बनाने के लिए सबसे बड़ी बात यह है कि इसमें नीट जैसी परीक्षा को पास करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

 

इस विषय में 12वीं के बाद बीएससी, एमएससी, डिप्लोमा कोर्स, एमफिल एवं पीएचडी किया जा सकता है। इस क्षेत्र में रोजगार के अच्छे अवसर मिलते हैं। अगर आप इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आप बायोइन्फॉर्मेटिक्स में बीटेक या बीएससी कर सकते हैं इसके लिए 12वीं में साइंस स्ट्रीम होना जरूरी है। इसके आगे आप इसमें एडवांस डिप्लोमा भी कर सकते हैं साथ ही बायोइन्फॉर्मेटिक्स में M-Tech भी किया जा सकता है। इस फील्ड में मुख्य रूप से वेब आधारित कार्यक्रमों और डेटाबेसों को नियोजित करने का कार्य किया जाता है। बीआरएल, राॅश, कैबेज जैसी कंपनियों में विभिन्न जॉब प्रोफेशनल पर रहकर कार्य कर सकते हैं जैसे साइंटिफिक क्यूरेटर, जीन एनालिस्ट, प्रोटीन एनालिस्ट, रिसर्च साइंटिस्ट इत्यादि।

 

ऑथर:- आफरीन 

 
RELATED POST

Leave a reply
Click to reload image
Click on the image to reload








Advertisement