Quote :

“समर्पण के साथ किया गया हर कार्य सफल होता है” - अज्ञात

International

कुवैत अग्निकांड में भारत के 42 नागरिकों की मौत, मदद के लिए विदेश राज्यमंत्री कीर्तिवर्धन पहुंचे

Date : 13-Jun-2024

 जान गंवाने वाले केरल के अधिकांश नागरिकों की पहचान

भारतीय दूतावास ने हेल्प लाइन नंबर 965-65505246 जारी किया
अमीर ने पीड़ित परिवारों को आर्थिक सहायता देने की घोषणा की

कुवैत सिटी, 13 जून। भारत के विदेश राज्यमंत्री कीर्तिवर्धन सिंह गुरुवार को कुवैत पहुंचे। यहां पर वह सबसे पहले अस्पताल गए। वहां उन्होंने अग्निकांड में झुलसे भारतीय नागरिकों से मुलाकात कर हालचाल जाना।

उन्होंने कुवैत के विदेशमंत्री अब्दुल्ला अली अल याहया से मुलाकात की। याहया ने भरोसा दिलाया कि वे शवों को जल्द से जल्द भारत पहुंचाने में मदद करेंगे। कुवैत के अमीर शेख मेशाल अल-अहमद अल-जबर अल-सबा ने भारतीय नागरिकों के शवों को मातृभूमि पहुंचाने के लिए विमानों की तैयारी का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद भी दी जाएगी। अमीर की घोषणा की पुष्टि आंतरिक मंत्री शेख फहद अल-यूसेफ ने की है।



उल्लेखनीय है कि कुवैत के मंगाफ शहर में एक बहुमंजिला इमारत में बुधवार को आग लगने से 49 लोगों की मौत हो गई। इनमें 42 भारतीय नागरिक हैं। इनमें केरल के 14 लोग शामिल हैं। छह मंजिला इमारत में लगी आग की लपटों में बड़ी संख्या में लोग झुलसे हैं। बताया गया है कि भारतीय राज्य केरल की स्वास्थ्यमंत्री वीना जॉर्ज भी कुवैत पहुंचने वाली हैं। वह आज ही भारत से कुवैत के लिए रवाना हुई हैं।



भारत के विदेश मंत्रालय ने बताया कि झुलसे लोगों का इलाज कुवैत के पांच अस्पतालों- अदान, जाबेर, फरवानिया, मुबारक अल कबीर और जाहरा में चल रहा है। सभी की हालत पहले से बेहतर है। कुवैत में भारतीय दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर 965-65505246 जारी किया है। अरब टाइम्स के अनुसार मरने वालों में 20 से 50 साल की आयु के बीच लोग है। इनमें ज्यादातर केरल और तमिलनाडु के हैं। सभी एनबीटीसी कंपनी में काम करते थे।



भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर विदेश राज्यमंत्री कीर्ति वर्धन सिंह कुवैत पहुंचे हैं। अधिकारियों ने घोषणा की है कि हताहत कुछ लोगों की पहचान के लिए डीएनए परीक्षण कराया जाएगा। केरल के जो लोग हताहत हुए हैं, उनमें से कुछ की पहचान हो गई है। इनमें पंडालम के आकाश एस नायर (23), कोल्लम पूयाप्पल्ली के उमरुद्दीन शमीर (33), कोट्टायम पंपडी के स्टेफिन अब्राहम साबू (29), कुंडदुकम (कासरगोड के केआर रंजीत (34), कासरगोड के केलू पोनमलेरी (55), वजहमुट्टम (पथानामथिट्टा) के पीवी मुरलीधरन, पुनालुर (कोल्लम) के साजन जॉर्ज, वेलिचिकला (कोल्लम) के लुकोस (48), कोन्नी के साजू वर्गीस (56), तिरुवल्ला के थॉमस ओम्मन, धर्मडोम (कन्नूर) के विश्वास कृष्णन, कूटयी (तिरुर) मलप्पुरम के नूह, मलप्पुरम के एमपी बहुलायन और चंगनास्सेरी (कोट्टायम) के श्रीहरि प्रदीप हैं।



हताहत अन्य भारतीयों की पहचान थॉमस जोसेफ, प्रवीण माधव, भूनाथ रिचर्ड रॉय आनंद, अनिल गिरि, मोहम्मद शरीफ, द्वारिकेश पटनायक, विश्वास कृष्णन, अरुण बाबू, रेमंड, जीसस लोपेज और डेनी बेबी करुणाकरन के रूप में हुई है।

 
RELATED POST

Leave a reply
Click to reload image
Click on the image to reload









Advertisement