Quote :

The secret of your future is hidden in your daily routine-Mike Murdock

Health & Food

योग का महत्व

Date : 28-Sep-2022

योग स्वस्थ जीवन व्यतीत करने की कला तथा विज्ञान है। योग से आत्मज्ञान की प्राप्ति तथा सभी प्रकार की शारीरिक परेशानियों को दूर करना है। योग मनुष्य के मन और आत्मा की अनंत क्षमता को बढ़ाकर आत्मज्ञान की प्राप्ति करवाता है। योग करने से हमें अच्छी नींद आती है तथा हमारा शरीर स्वस्थ और तंदुरुस्त रहता है। योग से हमें शांति तथा आनंद प्राप्त होता है। योग से हमारा मस्तिष्क एकाग्रचित होकर काम करता है तथा हमारे मन में अच्छे विचारों का निवास होता है। योग हमारे शरीर को स्वस्थ, लचीला तथा शक्तिशाली भी बनाए रखता है। 

योग के फायदे
मांसपेशियों के लचीलेपन में सुधार
शरीर के आसन और एलाइनमेंट को ठीक करता है
बेहतर पाचन तंत्र प्रदान करता है
आंतरिक अंग मजबूत करता है
अस्थमा का इलाज करता है
मधुमेह का इलाज करता है
दिल संबंधी समस्याओं का इलाज करने में मदद करता है
त्वचा के चमकने में मदद करता है
शक्ति और सहनशक्ति को बढ़ावा देता है
एकाग्रता में सुधार
मन और विचार नियंत्रण में मदद करता है
चिंता, तनाव और अवसाद पर काबू पाने के लिए मन शांत रखता है
तनाव कम करने में मदद करता है
रक्त परिसंचरण और मांसपेशियों के विश्राम में मदद करता है
वज़न घटाना
चोट से संरक्षण करता है

ये सब योग के लाभ हैं। योग स्वास्थ्य और आत्म-चिकित्सा के प्रति आपके प्राकृतिक प्रवृत्ति पर ध्यान केंद्रित करता है।
योग सत्र में मुख्य रूप से व्यायाम, ध्यान और योग आसन शामिल होते हैं जो विभिन्न मांसपेशियों को मजबूत करते हैं। दवाओं, जो हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, से बचने का यह एक अच्छा विकल्प है।
योग अभ्यास करने के मुख्य लाभों में से एक यह है कि यह तनाव कम करने में मदद करता है। तनाव का होना इन दिनों एक आम बात है जिससे शरीर और मन पर विनाशकारी प्रभाव पड़ता है। तनाव के कारण लोगों को सोते समय दर्द, गर्दन का दर्द, पीठ दर्द, सिरदर्द, तेजी से दिल का धड़कना, हथेलियों में पसीने आना, असंतोष, क्रोध, अनिद्रा और ध्यान केंद्रित करने में असमर्थता जैसी गंभीर समस्याएं पैदा होती हैं। समय गुज़रने के साथ इन प्रकार की समस्याओं का इलाज करने में योग वास्तव में प्रभावी है। यह एक व्यक्ति को ध्यान और साँस लेने के व्यायाम से तनाव कम करने में मदद करता है और एक व्यक्ति के मानसिक कल्याण में सुधार करता है। नियमित अभ्यास मानसिक स्पष्टता और शांति बनाता है जिससे मन को आराम मिलता है।
योग के प्रकार 
राज योग – इसके तहत पदमासन, सूर्य नमस्कार जैसे आसन शामिल हैं, जिन्हें करने से शऱीर में फुर्ती रहती है।
भक्ति योग – भक्ति योग मुख्य रुप से व्यक्ति के तनाव को कम करने और डिप्रेशन को भगाने में सहायक होता है।
कर्म योग – कर्म योग करने से मुख्यत: मोटापे जैसी बीमारी नहीं होती है, इसमें मनुष्य की मांसपेशियां और दिमाग दोनों काम करते हैं।
हठ योग – आमतौर पर पूरे दुनिया में हठ योग सबसे ज्यादा किया जाता है, इसमें कई तरह के प्रसिद्ध आसन जैसे – भजुंगासन, ताड़ासन, त्रिकोणासन, कपालभांति, अनुलोग, विलोग, सूर्य नमस्कार जैसे कई व्यायाम शामिल होते हैं।
ज्ञान योग – मुख्य रुप से मन की शांति के लिए किए जाने वाले योग इसमें शामिल हैं।
योग करने का सही तरीका एवं नियम
योग करने के कुछ नियम होते हैं, जिन पर जरूर ध्यान देना चाहिए, अन्यथा आप इसका फायदा नहीं उठा सकेंगे –
योग को सुबह सुर्योदय के बाद करना एवं सूर्यस्त से पहले करना चाहिए।
कभी खाना खाने के बाद योग नहीं करना चाहिए,खाली पेट योग करना चाहिए। योग करने से करीब 2-3 घंटे पहले से कुछ नहीं खाना चाहिए।
योग करने के करीब आधा घंटे बाद ही कुछ खाना चाहिए।
योग को हमेशा विशेषज्ञ की सलाह लेकर करना चाहिए।
योग करने से पहले इसे सीखना बेहद आवश्यक है, अर्थात योग, गुरु की निगरानी में ही किया जाना चाहिए।
योग करते समय सही तरह से श्वास छोड़ना अथवा लेना आना चाहिए।
अगर योग करने की शुरुआत कर रहे हैं, तो कठिन आसनों एवं व्यायाम से शुरुआत न करें, इसके साथ ही धीमे-धीमे योग करने की क्षमता बढ़ाएं, शुरुआती दिनों में अपने शरीर के अंगों के साथ जबरदस्ती नहीं करनी चाहिए।
कॉटन व आरामदायक कपड़े पहनकर योग करना चाहिए।
योग अभ्यास, किसी दरी अथवा चटाई पर बैठकर किए जाने चाहिए।
योग का लाभ मिलना धीरे-धीरे शुरु होता है, इसलिए धैर्य के साथ योगाभ्यास को किया जाना चाहिए, जल्दी परिणाम की इच्छा नहीं करना चाहिए।

अंतराष्ट्रीय योग दिवस
योग का हर किसी के जीवन में बेहद महत्व हैं, वहीं इसके अनगिनत लाभों के चलते इसकी लोकप्रियता आज विश्व स्तर पर है। लाखों लोगों को योग के माध्यम से अपने रोगों को दूर करने में सहायता मिली है। इसलिए योग के महत्व के प्रति जागरूक करने और नियमित रुप से लोगों को योग के प्रति प्रोत्सिाहित करने के लिए  21 जून को अंतराष्ट्रीय योग दिवस के रुप में मनाने की घोषणा की गई थी।
विश्व योग दिवस के मौके पर जगह-जगह योग कैंप का आयोजन करवाया जाता है और योग के सही तरीकों एवं इसके महत्व के बारे में लोगों को अवगत करवाया जाता है।
 
 
लेखिका-दीपिका पाण्डेय 
 
RELATED POST

Leave a reply
Click to reload image
Click on the image to reload








Advertisement